हिन्दी दिवस का आयोजन

भाकृअनुप - विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान अल्मोड़ा में 14 सितम्बर 2018 को हिन्दी दिवस कार्यक्रम, संस्थान के प्रयोगात्मक प्रक्षेत्र हवालबाग के सभागार में आयोजित हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ वाई एस परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विष्वविद्यालय, सोलन के पूर्व कुलपति एवं संस्थान की अनुसंधान सलाहकार समिति के अध्यक्ष डॉ के.आर. धीमन ने की।

हिन्दी दिवस कार्यक्रम के प्रारम्भ में प्रभारी, राजभाषा श्री तेजबहादुर पाल ने अध्यक्ष सहित सभी उपस्थित अतिथियों का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। उन्होंने हिन्दी दिवस मनाने का कारण, संवैधानिक स्तर पर हिन्दी की प्रगति  सुनिष्चित करने में राजभाषा अधिनियम, 1963, राजभाषा संकल्प 1968 एवं राजभाषा नियम 1976 के योगदान के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने संस्थान में राजभाषा की प्रगति का विवरण प्रस्तुत किया।

 

इस अवसर पर संस्थान के निदॆशक डॉ अरूणव पट्टनायक ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए उन्हें इस कार्यक्रम की अध्यक्षता का दायित्व स्वीकारने के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया। उन्होंने यह भी बताया कि संस्थान में 14 सितम्बर से 13 अक्टूबर 2018 तक हिन्दी चेतना मास का आयोजन किया जा रहा है।

अपने सम्बोधन में मुख्य अतिथि डॉ के.आर. धीमन ने बताया कि अपनी संस्कृति एवं अपनी भाषा की अलग पहचान होती है इसलिए हमें अपनी संस्कृति एवं भाषा पर गर्व होना चाहिए। हमारे दॆश में कोई भी ऐसा राज्य नहीं है जहां लोग हिन्दी बोलते या समझते नहीं है। हिन्दी दॆशकी समृद्ध भाषा है और इसके माध्यम से हम अपनी सभी बातों को स्पष्टता से रख सकते हैं। उन्होंने स्थानीय भाषा एवं हिन्दी का समावेश कर हिन्दी को आगे बढ़ाने का अनुरोध किया। कार्यक्रम में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी श्री वाई.एस. धानिक ने कार्यालय में राजभाषा की स्थिति व प्रगति की जानकारी दी। इस अवसर पर अनुसंधान सलाहकार समिति के सदस्य डॉ ए.के. शर्मा, डां एच.सी. भट्टाचार्या सहित संस्थान के सभी वैज्ञानिक, तकनीकी, प्रशासनिक व कुशल सहायक वर्ग के कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्री तेज बहादुर पाल एवं धन्यवाद प्रस्ताव श्री एच.एल. मीणा प्रशासनिक अधिकारी द्वारा पारित किया गया।