आईएमडी की ग्रामीण कृषि मौसम सेवा (जीकेएमएस) परियोजना की आभासी समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन

28 जुलाई, 2021, जोधपुर

भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोधपुर, राजस्थान ने आज 'भारतीय मौसम विभाग की ग्रामीण कृषि मौसम सेवा (जीकेएमएस) परियोजना की आभासी समीक्षा बैठक' का आयोजन किया।

मुख्य अतिथि, डॉ. रणधीर सिंह, अतिरिक्त महानिदेशक, (कृषि विस्तार), भाकृअनुप ने ने मौसम संबंधी जानकारी के आधार पर कृषि-सलाहकारों के स्वचालन के महत्व पर प्रकाश डाला, जिसे उचित भविष्यवाणी और सटीकता के साथ न्यूनतम मानवीय हस्तक्षेप के साथ लिया जाना चाहिए। उन्होंने परामर्शों (एडवाइजरी) को समझने में आसान और स्थानीय भाषाओं में तैयार करने का भी आग्रह किया।

Virtual Review Meeting of Gramin Krishi Mausam Sewa (GKMS) Project of IMD organised

डॉ. के. के. सिंह, प्रमुख, आईएमडी, नई दिल्ली ने मौसम पूर्वानुमान में विशेष रूप से ब्लॉक-स्तरीय पूर्वानुमानों में सेवा की गुणवत्ता में सुधार पर जोर दिया। उन्होंने दीर्घकालिक परामर्शों के डिजिटलीकरण/स्वचालन के लिए उपलब्ध क्षेत्र की स्थितियों में मृदा नमी अवलोकन से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराने पर जोर दिया।

डॉ. एस. के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप-अटारी, जोधपुर, राजस्थान ने देश के विभिन्न कृषि-पारिस्थितिक क्षेत्रों को देखते हुए स्थायी कृषि उत्पादन हेतु कृषि कार्यों के लिए मौसम के पूर्वानुमान को आवश्यक माना। उन्होंने मौसम, जलवायु, फसलों, पेड़ों और पशुओं के बीच अंतर्संबंधों को विकसित करने पर भी जोर दिया।

बैठक में राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली के कुल 24 कृषि विज्ञान केंद्रों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोधपुर, राजस्थान)