'कृषि अभियांत्रिकी में स्वचालन' पर विचार-मंथन सत्र का हुआ आयोजन

19 फरवरी, 2021, कोयंबटूर

Brainstorming Session on “Automation in Agricultural Engineering” organized

भाकृअनुप-केंद्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान, क्षेत्रीय केंद्र, कोयंबटूर ने आज आभासी तौर पर 'कृषि अभियांत्रिकी में स्वचालन' पर विचार-मंथन सत्र का आयोजन किया।

डॉ. सी. आर. मेहता, निदेशक, भाकृअनुप-सीआईएई, भोपाल, मध्य प्रदेश ने अपने उद्घाटन संबोधन में वैश्विक/भारतीय संदर्भ में कृषि अभियांत्रिकी में स्वचालन के महत्त्व और आवश्यकता तथा आगे की राह पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर क्षेत्र में कार्यरत विशेषज्ञों द्वारा 5 आमंत्रित वार्ताओं को चिह्नित किया गया और इस पर चर्चा की गई ताकि तत्काल ध्यान देने वाले क्षेत्रों की पहचान की जा सके और छोटी भूमि जोत के लिए कृषि में स्वचालन के लिए आगे की राह तय की जा सके।

इस सत्र का मुख्य उद्देश्य कृषि इंजीनियरिंग में स्वचालन की स्थिति और आवश्यकता और इनपुट उपयोग दक्षता को बढ़ाने और कृषि कामगारों की कठिन परिश्रम को कम करने के लिए आगे की राह पर चर्चा करना था।

इस सत्र में भाकृअनुप-संस्थानों, राज्य कृषि विश्वविद्यालयों, विभिन्न अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजनाओं के प्रधान अन्वेषकों, एआईसीटीई अनुमोदित संस्थानों और डीम्ड विश्वविद्यालयों के लगभग 85 आमंत्रित विशेषज्ञों, वैज्ञानिकों, संकाय सदस्यों ने आभासी तौर पर भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान, भोपाल, मध्य प्रदेश)