"गोवा राज्य के लाइन विभागों के साथ इंटरफेस मीटिंग" का आयोजन @भारत का अमृत महोत्सव

24 जून, 2022, गोवा

भाकृअनुप-केंद्रीय तटीय कृषि अनुसंधान संस्थान, गोवा द्वारा आज यहां कृषि निदेशालय, पशुपालन और पशु चिकित्सा सेवा विभाग एवं मत्स्य पालन निदेशालय, गोवा सरकार के अधिकारियों के साथ इंटरफेस मीटिंग आयोजित की गई।

“Interface Meeting with Line Departments of Goa State” organized @Bharat Ka Amrut Mahotsav  “Interface Meeting with Line Departments of Goa State” organized @Bharat Ka Amrut Mahotsav

डॉ. परवीन कुमार, निदेशक, भाकृअनुप-सीसीएआरआई, गोवा ने संबंधित विभागों के साथ इंटरफेस बैठक आयोजित करने के महत्व पर प्रकाश डाला जो हितधारकों की मांग के अनुसार अनुसंधान परियोजनाओं को तैयार करने में मदद करेगा।

डॉ. अगोस्टिन्हो मिस्किटा, निदेशक, पशुपालन और पशु चिकित्सा सेवा विभाग, गोवा सरकार ने राज्य में डेयरी पशुओं में बांझपन और ब्रुसेलोसिस की समस्या और चारे की उपलब्धता के मुद्दों पर शोध करने का आग्रह किया।

श्री शिवानंद वागले, उप निदेशक कृषि (विस्तार), गोवा सरकार ने कृषि से संबंधित कुछ मुद्दों पर प्रकाश डाला जैसे लैब-टू-लैंड कार्यक्रम का कार्यान्वयन, जलवायु-स्मार्ट प्रौद्योगिकियों का विकास और किसानों की आय को दोगुना करना आदि पर विचार किया गया।

भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में "भारत का अमृत महोत्सव" के एक भाग के रूप में आयोजित बैठक का उद्देश्य कृषि और संबद्ध क्षेत्रों से संबंधित विभिन्न शोध योग्य मुद्दों पर चर्चा करना था।

भाकृअनुप-सीसीएआरआई, गोवा के वैज्ञानिकों सहित कुल 45 प्रतिभागी; केवीके, उत्तर और दक्षिण गोवा के कार्यक्रम समन्वयक और विषय विशेषज्ञ एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय तटीय कृषि अनुसंधान संस्थान, गोवा)