प्रतिनिधिमंडल, नेपाल ने भाकृअनुप-अटारी, जोन-1, लुधियाना, पंजाब का किया दौरा

21 जून, 2022, लुधियाना

प्रांतीय मंत्री, श्री बिजय कुमार यादव, भूमि प्रबंधन, कृषि और सहकारिता मंत्रालय (MOLMAC), नेपाल सरकार के नेतृत्व में 9 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल आज यहां भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोन -1, लुधियाना, पंजाब के दौरे पर था।

Delegation from Nepal visits ICAR-ATARI, Zone - 1, Ludhiana, Punjab  Delegation from Nepal visits ICAR-ATARI, Zone - 1, Ludhiana, Punjab

प्रतिनिधिमंडल ने कृषि विज्ञान केंद्र से जुड़े प्रगतिशील किसानों से बातचीत की। उन्होंने केवीके में विभिन्न प्रदर्शन इकाइयों, प्रौद्योगिकी पार्क, वर्षा जल संचयन संरचनाओं और सूक्ष्म छिड़काव प्रणाली, मशीनरी इकाई, बायोगैस उत्पादन और मृदा परीक्षण प्रयोगशाला में भी गहरी रुचि दिखाई। टीम के सदस्यों ने आपसी हितों के विभिन्न मुद्दों और अपने देश में दोहराए जाने वाले नए कृषि सुधारों के लाभों पर चर्चा की, विशेष रूप से महिला सशक्तिकरण के लिए स्वयं सहायता समूह मॉडल और बड़े पैमाने पर मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देना के बारे विचार-विमर्श किया।

इससे पहले, प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए, डॉ. राजबीर, निदेशक, भाकृअनुप-अटारी, लुधियाना, पंजाब ने कृषि विस्तार प्रणाली के राष्ट्रीय परिदृश्य में, विशेष रूप से, केवीके प्रणाली के बारे में अवगत कराया। यह उल्लिखित है कि कृषक समुदाय के कल्याण के लिए उत्तरी क्षेत्र में भाकृअनुप-अटारी और केवीके द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियाँ रहीं हैं।

टीम के सदस्यों में श्री मेख बहादुर मोंगराती, प्रांत सचिव, मुख्यमंत्री कार्यालय और मंत्रिपरिषद; डॉ. नम्रता सिंह, प्रांत सचिव, एमओएलएमएसी (MOLMAC); श्री जागेश्वर पीडी यादव, वरिष्ठ मत्स्य अधिकारी; डॉ. रत्ना कुमार झा, वरिष्ठ फसल सुरक्षा अधिकारी; श्री बिजय कुमार महतो, मुख्य सर्वेक्षण अधिकारी; श्री शंकर प्रसाद साह, वरिष्ठ कृषि-अर्थशास्त्री; श्री सुरेन्द्र कुमार दीपक, निजी सचिव एवं श्री विजय कुमार चौधरी, लेखा अधिकारी शामिल थे।

(स्रोत: भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोन-1, लुधियाना, पंजाब)