भाकृअनुप-आईआईएनआरजी, रांची ने "पहला राष्ट्रीय लाख कीट दिवस - 2022" मनाया

16 मई, 2022, रांची

भाकृअनुप-भारतीय प्राकृतिक रेजिन और गोंद संस्थान, रांची, झारखंड ने आज यहां उत्पादक कीट संरक्षण सप्ताह (16 से 22 मई, 2022) के दौरान "पहला राष्ट्रीय लाख कीट दिवस - 2022" मनाया।

ICAR-IINRG, Ranchi celebrates “1st National Lac Insect Day - 2022”  ICAR-IINRG, Ranchi celebrates “1st National Lac Insect Day - 2022”

डॉ. के.के. शर्मा, निदेशक, भाकृअनुप-आईआईएनआरजी, रांची ने अपने संबोधन में, मुख्य रुप से, लाभकारी लाख कीड़ों के पारिस्थितिकी तंत्र सेवाओं के महत्व पर प्रकाश डाला, जो आश्रित मानव आबादी को आजीविका सुरक्षा प्रदान करती है। डॉ. शर्मा ने देश में उपलब्ध लाभकारी कीट जैव विविधता की रक्षा के लिए संरक्षण के प्रयासों की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

ICAR-IINRG, Ranchi celebrates “1st National Lac Insect Day - 2022”

संस्थान ने "झारखंड के लिए समावेशी कृषि पारिस्थितिकी तंत्र: फिनटेक और ब्लॉकचेन के लिए आवेदन" परियोजना को लागू करने के लिए आईआईटी (आईएसएम), धनबाद, झारखंड के साथ समझौता ज्ञापन (एमओए) पर हस्ताक्षर किए।

परियोजना का उद्देश्य, एक एकीकृत ब्लॉकचेन और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से युक्त सक्षम प्लेटफॉर्म तैयार करना है जो लाख खेती, किसान उत्पादक संगठनों, डिजिटल ऋणदाताओं, प्रसंस्करण इकाइयों, उद्योगों और आयातकों में शामिल सभी को एक मंच पर जुड़ने की अनुमति देगा।

(स्रोत: भाकृअनुप-भारतीय प्राकृतिक रेजिन और गोंद संस्थान, रांची, झारखंड)