मृदा उर्वरता प्रबंधन के लिए मृदा परीक्षण के महत्त्व पर आभासी प्रशिक्षण-सह-जागरूकता कार्यक्रम का हुआ आयोजन

19 अप्रैल, 2021, महाराष्ट्र

 

कृषि विज्ञान केंद्र, करदा, वाशिम, महाराष्ट्र की मृदा परीक्षण लैब ने आज 'मृदा उर्वरता प्रबंधन के लिए मृदा परीक्षण के महत्त्व' पर एक आभासी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया है।

प्रशिक्षण-सह-जागरूकता कार्यक्रम 13 अप्रैल से 24 जुलाई, 2021 तक कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की देखरेख में आयोजित कार्यक्रम 'भूमि सुपोषण और संरक्षण अभियान' का एक हिस्सा था।

कार्यक्रम के दौरान विभिन्न मृदा परीक्षण विधियाँ, विभिन्न तत्त्वों और विधियों या सिंचाई जल परीक्षण के निर्धारण के लिए मिट्टी परीक्षण तकनीकों के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई।

 
Virtual Training-cum-Awareness Programme on "Importance of Soil Testing for Soil Fertility Management" organized  Virtual Training-cum-Awareness Programme on "Importance of Soil Testing for Soil Fertility Management" organized
 

कार्यक्रम का उद्देश्य टिकाऊ कृषि एवं आजीविका सुरक्षा तथा उच्च उपज के लिए मिट्टी को समृद्ध और संरक्षित करने पर किसानों को जागरूक करना था।

कार्यक्रम में कुल 62 प्रतिभागियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज़ की।

(स्त्रोत: कृषि विज्ञान केंद्र, करदा, वाशिम, महाराष्ट्र)