सीएआर-क्रिजफ, बैरकपुर ने "किसान-एसएचजी-वैज्ञानिक-विशेषज्ञ इंटरफेस मीटिंग" का किया आयोजन

23 जून, 2022, बैरकपुर

भाकृअनुप-केंद्रीय जूट और संबद्ध फाइबर अनुसंधान संस्थान, बैरकपुर, कोलकाता ने आज यहां "किसान-एसएचजी-वैज्ञानिक-विशेषज्ञ इंटरफेस मीटिंग" का आयोजन किया।

ICAR-CRIJAF, Barrackpore organized “Farmer-SHG-Scientist-Expert Interface Meeting”  ICAR-CRIJAF, Barrackpore organized “Farmer-SHG-Scientist-Expert Interface Meeting”

प्रो. एस.के. दत्ता, पूर्व उप महानिदेशक (फसल विज्ञान), भाकृअनुप और कुलपति, बिस्वा बांग्ला विश्वविद्यालय ने आरएसी अध्यक्ष के साथ बातचीत के दौरान उनके सामने आने वाली समस्याओं और संस्थान द्वारा विकसित किस्मों और प्रौद्योगिकियों को अपनाने से प्राप्त विभिन्न लाभों के बारे से अवगत कराया गया।

डॉ. आर.के. सिंह, एडीजी (सीसी), भाकृअनुप ने भी बैठक में भाग लिया और इस दौरान विचार-विमर्श किया।

इससे पहले, डॉ. गौरंगा कार, निदेशक, भाकृअनुप-क्रिजफ, कोलकाता ने स्वागत संबोधन में संस्थान की उपलब्धियों को रेखांकित किया। डॉ. कर ने संस्थान द्वारा विकसित की गई नई किस्मों पर प्रकाश डाला, जिनमें पूर्व-परिपक्व फूल प्रतिरोधी लक्षण हैं। उन्होंने किसानों से इन-सीटू रेटिंग, तालाब और एकीकृत कृषि प्रणाली का लाभ उठाने का भी आग्रह किया।

बैठक में कुल 150 किसानों, एसएचजी सदस्यों और एफपीओ प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय जूट एवं संबद्ध फाइबर अनुसंधान संस्थान, बैरकपुर, कोलकाता)